नवजात शिशु पर कविता – New Born Baby Poem in Hindi

0
200

Are You Looking Best New Born Baby Poem in Hindi, Than You are Right Place Because I am Sharing For You Best New Born Baby Poem in Hindi, नवजात शिशु पर कविता, So Please Read and Share with Friends, Relatives and Social Media Also, Thanks

नवजात-शिशु-पर-कविता-new-born-baby-poem-in-hindi

नवजात शिशु पर कविता

तुम कितने प्यारे हो,
सबके आँखों के तारे हो,
तुम राजदुलारे हो
तुम लाल हमारे हो.सब अच्छा लगता है,
जब तुम रोते हो,
जब तुम सोते हो,
जब तुम बाहों में होते हो.

जब तुम मुस्कुराते हो,
हमे अपनी तरफ लुभाते हो,
तुम्हारी हर अदा देखकर लगता है
तुम सबको अपने पास बुलाते हो.

तुम दिल का करार हो,
तुम मेरा पहला प्यार हो,
तुम मेरे जीवन में आये बहार हो,
तुम मेरे सबसे अच्छे यार हो !

Read More : 

New Born Baby Poem in Hindi

लकड़ी की काठी
काठी पे घोड़ा
घोड़े की दुम पे
जो मारा हथौड़ा
दौड़ा दौड़ा दौड़ा घोड़ा
दुम उठा के दौड़ाघोड़ा पहुंचा चौक में
चौक में था नाई
घोड़ेजी की नाई ने
हज़ामत जो बनाई
घोड़ा पहुंचा चौक में…
तग-बग तग-बग
तग-बग तग-बग
दौड़ा दौड़ा दौड़ा घोड़ा
दुम उठा के दौड़ा

घोड़ा था घमंडी
पहुंचा सब्जी मंडी
सब्जी मंडी बरफ़ पड़ी थी
बरफ़ में लग गई ठंडी
तग-बग तग-बग
तग-बग तग-बग
घोड़ा था घमंडी …
दौड़ा दौड़ा दौड़ा घोड़ा
दुम उठा के दौड़ा

घोड़ा अपना तगड़ा है
देखो कितनी चरबी है
चलता है महरौली में
पर घोड़ा अपना अरबी है
घोड़ा अपना तगड़ा है…
बांह छुड़ा के दौड़ा घोड़ा
दुम उठा के दौड़ा घोड़ा

नवजात-शिशु-पर-कविता-new-born-baby-poem-in-hindi

Welcome Poem For New Born Baby in Hindi

तितली रानी तितली रानी
कितनी प्यारी कितनी सयानी
रंग बिरंगे पंख सजीले
लाल, गुलाबी, नीले, पीले
फूल फूल पर जाती हो
गुनगुन-गुनगुन गाती हो
कली कली पर मंडराती हो
मीठा मीठा रस पीकर उड़ जाती हो
अपने कोमल पंख दिखाती
सबको उनसे है सहलाती
तितली रानी तितली रानी
कितनी सुंदर, तितली रानी
इस बगिया में आना रानी
तितली रानी तितली रानी.

Short Poem On New Born Baby in Hindi

चंदा मामा गोल मटोल,
कुछ तो बोल, कुछ तो बोल
कल थे आधे, आज हो गोल
खोल भी दो अब अपनी पोल.रात होते ही तुम आ जाते,
संग-साथ सितारे लाते,
लेकिन दिन में कहाँ छिप जाते
कुछ तो बोल, कुछ तो बोल.

न्यू बोर्न बेबी पोएम इन हिंदी

गुड़िया मेरी रानी है,
लगती बड़ी सयानी है,
गोरे-गोरे गाल है,
लम्बे-लम्बे बाल है.आँखे मुलकाती है,
हमसे अकेले में बतियाती है,
मेरे जीवन का आधार है,
मुझको अपनी बिटियाँ से प्यार है.

अपने पास बिठाता हूँ,
मेवा मिष्ठान खिलाता हूँ,
अच्छी-अच्छी बाते बताता हूँ,
और खूब प्यार जताता हूँ.

मेरी गुडिया रानी है
लगती बड़ी सयानी है
उसकी सुंदर से मुस्कान
हम सबको कर देती है खुशहाल !

उम्मीद करते है आपको हमारे द्वारा ऊपर नवजात शिशु पर कविता – New Born Baby Poem in Hindi आदि का यह बेहतरीन संग्रह अवश्य पसंद आया होगा, अगर आप ऐसे ही शायरी कविता का संग्रह पाना चाहते है तो हमारे इस ब्लॉग से जुड़े रहे हम आपको रोज़ाना बेहतरीन कविता एवं कहानियों का संग्रह पेश करेंगे | धन्यवाद |

यह भी पढ़े :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here